‘Wonder Women’ फेम एक्ट्रेस बोली, हिंसा पर अन्याय को उजागर करे सिनेमा; ‘जब हमारी बहनों को गुंडों द्वारा..’


पार्वती थिरुवोथु (Parvathy Thiruvothu) साउथ फिल्म इंडियन एक्ट्रेस हैं, जो मलयालम और तमिल फिल्मों में नजर आती हैं. उन्होंने साल 2006 में आई मॉलीवुड फिल्म आउट ऑफ साइलेबस में अपनी शुरुआत की थी. उन्हें नोटबुक, पू, पृथ्वी, सिटी ऑफ गॉड, मैरीन, बैंगलोर डेज, Uttama Villain, एननु जैसी फिल्मों में शानदार प्रदर्शन के लिए जाना जाता है. फिलहाल पार्वती अपने एक बयान को लेकर चर्चा में हैं. हाल ही में उन्होंने एक बयान में ऑनर किलिंग, बलात्कार और अल्पसंख्यकों के उत्पीड़न के मामलों के जिक्र करते हुए कहा कि ये सब मुद्दे को हाईलाइट करने की जिम्मेदारी सिनेमा को लेनी चाहिए.

उजागर होनी चाहिए जातिवाद और महिलाओं के खिलाफ हिंसा
पार्वती अपनी अपकमिंग फिल्म ‘वंडर वुमन’ (Wonder Women) की रिलीज के लिए तैयार तैयार और इसी के प्रमोशन के दौरान उन्होंने एक इंटरव्यू में इन मुद्दों पर अपनी प्रतिक्रिया बयां की है. उन्होंने ऐसे मामलों पर नैतिक जिम्मेदारी के रूप में उजागर करने की आवश्यकता पर बोलने के बारे में अपने विचार साझा किए हैं. जातिगत भेदभाव (caste discrimination) के परिणामस्वरूप महिलाओं पर होने वाली हिंसा के बारे में बात करते हुए पार्वती थिरुवोथु ने कहा, ‘जब हमारी बहनों को ऊंची जाति के गुंडों द्वारा पीटा जाता है और पेड़ों पर लटका दिया जाता है, तो इसके बारे में शायद ही कोई शब्द हो.’ ऐसे में इन सब मामलों के बारे में सिनेमा के लोगों को हाईलाइट करने की जरूरत है.

Tags: South cinema, South cinema News, South Indian Actress





Source link

Related posts

Leave a Comment