38 Years Of Manzil Manzil: डिंपल कपाड़िया ने ‘मंजिल मंजिल’ से किया था कमबैक, नासिर हुसैन की पहली फ्लॉप फिल्म


नई दिल्ली: डिंपल कपाड़िया (Dimple Kapadia) ‘बॉबी’ फिल्म की जबरदस्त सफलता के बाद रातों-रात स्टार बन गई थीं. ऋषि कपूर के साथ उनकी कमसिन मोहब्बत ने पर्दे पर आग लगा दी थी. ये वो दौर था जब बॉलीवुड के पहले सुपरस्टार राजेश खन्ना का जलवा था. डिंपल खुद उनकी मुरीद थीं. इसी दौरान डिंपल की खूबसूरती पर रीझे राजेश ने शादी का प्रस्ताव दिया, जिसे डिंपल ठुकरा नहीं पाईं और शादी कर ली. हालांकि शादी के समय ही राजेश ने शर्त रख दी थी कि वो फिल्मों में काम नहीं करेंगी. कुछ मोहब्बत की खुमारी कुछ कमसिन उम्र की समझ ऐसी रही कि पहली फिल्म से छा जाने वाली डिंपल फिल्मी दुनिया को अलविदा कह घर गृहस्थी में रम गईं. करीब 11 साल बाद नासिर हुसैन (Nasir Hussain) की फिल्म ‘मंजिल मंजिल’ (Manzil Manzil) से कमबैक किया. 16 नवंबर 1984 में रिलीज हुई इस फिल्म में सनी देओल (Sunny Deol) डिंपल के हीरो बने. इस फिल्म के 38 साल बीत गए हैं, चलिए बताते हैं कुछ दिलचस्प किस्से.

राजेश खन्ना से शादी के बाद डिंपल कपाड़िया जल्दी ही मां बन गईं और बच्चों में बिजी रहने लगी. कुछ साल बाद ही राजेश और डिंपल के रिश्तों में तल्खी आई तो उनसे अलग रहने लगी. ऐसे में एक बार फिर फिल्मी दुनिया में काम करने का मन बनाया, लेकिन इस बीच 10-11 साल गुजर चुके थे. कहते हैं कि डिंपल कपाड़िया ने जब फिल्मी पर्दे पर दोबारा कदम रखने की ख्वाहिश जताई तो कोई फिल्म एक्टर उनके साथ काम करने को तैयार नहीं हुआ. इसकी वजह थे राजेश खन्ना, ‘ऊपर आका नीचे काका’ जैसे स्लोगन फिल्म इंडस्ट्री में मशहूर थे. ऐसे में कोई नाराजगी मोल लेना नहीं चाहता था.

डिंपल-सनी के बीच नजदीकियों की हुई थी चर्चा
नासिर हुसैन ने रोमांटिक ड्रामा फिल्म ‘मंजिल मंजिल’ बनाई  और डिंपल कपाड़िया के हीरो बने सनी देओल. हालांकि नासिर डिंपल के कमबैक पर उन्हें फिर से ऋषि कपूर के साथ पर्दे पर उतारना चाहते थे लेकिन किसी वजह से उन्होंने इनकार कर दिया. इसके बाद नासिर ने सनी देओल को कास्ट किया. 11 साल बाद डिंपल कपाड़िया ने पर्दे पर वापसी की थी, नासिर हुसैन को फिल्म से काफी उम्मीदें थीं. लेकिन ये फिल्म कुछ खास नहीं चली, हालांकि सनी देओल और डिंपल की जोड़ी को बेहद पसंद किया गया. दोनों के बीच नजदीकियों की चर्चा भी बॉलीवुड में खूब हुई थी.

आमिर खान थे असिस्टेंट डायरेक्टर
खैर ‘मंजिल मंजिल’ नासिर की पहली फ्लॉप फिल्म बन गई. जब नासिर ‘मंजिल मंजिल’ बना रहे थे तब उनके भतीजे आमिर खान 12वीं की पढ़ाई पूरी कर चुके थे और फिल्म में असिस्टेंट के तौर पर काम करना चाहते थे. उन्होंने अपने चाचा से काम मांगा तो नासिर ने भी उन्हें ‘मंजिल मंजिल’ में बतौर असिस्टेंट डायरेक्टर काम करने का मौका दिया. काम के प्रति आमिर के लगन को देख कर नासिर समझ गए थे, उनका भतीजा हीरा है. नासिर ने ही अपने होम प्रोडक्शन से आमिर को ‘कयामत से कयामत तक’ में बतौर लीड एक्टर के तौर पर उतारा, उसके बाद तो सब इतिहास है.

डिंपल कपाड़िया और सनी देओल के अलावा इस फिल्म में डैनी डेंजोगप्पा, प्रेम चोपड़ा, कुलभूषण खरबंदा और आशा पारेख जैसे दिग्गज कलाकार भी थे.

Tags: Aamir khan, Dimple kapadia, Entertainment Special, Rajesh khanna, Sunny deol



Source link

Related posts

Leave a Comment