IFFI 2022: फेस्टिवल में 75 युवाओं को 53 घंटे में शॉर्ट फिल्म बनाने की चुनौती, मणिरत्नम करेंगे बेस्ट का चयन


मुंबई. इस साल भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल का 53वां समारोह (International Film Festival of India 2022) गोवा में आयोजित हो रहा है. 20 नवंबर से लेकर 28 नवंबर तक चलने वाले इस फेस्टिवल में युवाओं को 50 घंटे के अंदर एक शॉर्ट फिल्म बनाने की चुनौती मिलेगी. गोवा फिल्म फेस्टिवल के लिए इस साल देश भर से 75 युवाओं को ‘क्रिएटिव माइंड्स ऑफ टुमारो’ चुना गया है.

गोवा फिल्म फेस्टिवल में इस साल देश भर के क्रिएटिव युवाओं के लिए खास तरह की चुनौती रखी गई है. 100 थीम पर 18 से 35 साल के 75 युवा 53 घंटे के अंदर एक शॉर्ट फिल्म बनाएंगे. इसके लिए देश भर से 1100 से अधिक युवाओं ने आवेदन किया था, जिसे 10 सदस्यीय जूरी ने 19 राज्यों के 75 युवाओं को चुना है.

महाराष्ट्र से हैं सबसे अधिक युवा
प्रसून जोशी, आर बाल्की समेत 10 जूरी वाली टीम ने दिल्ली, गोवा, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, असम , झारखंड, जम्मू कश्मीर, हरियाणा, कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र, मणिपुर, राजस्थान, बिहार, हिमाचल प्रदेश, ओडिशा, तमिलनाडु, वेस्ट बंगाल से 1100 युवाओं के आवेदन में से 75 को ‘क्रिएटिव माइंड्स ऑफ टुमारो’ चुना है. इनमें सबसे अधिक 23 युवा महाराष्ट्र से हैं.

twitter gff

(साभार: Twitter)

मणिरत्नम चुनेंगे बेस्ट शॉर्ट फिल्म
मिली जानकारी के मुताबिक यूके की एक कंपनी इन सभी युवाओं की शॉर्ट फिल्म मेकिंग में मदद करेगी. इन युवाओं की प्रतिभा का आंकलन करने की जिम्मेदारी दिग्गज फिल्ममेकर मणिरत्नम को सौंपी गई है. मणिरत्नम की अध्यक्षता वाली एक जूरी इनमें से बेस्ट शॉर्ट फिल्म का चयन करेगी. चयनित फिल्मों का प्रदर्शन फेस्टिवल में होगा और 25 नवंबर को पुरस्कार दिया जाएगा.

बता दें कि ’75 क्रिएटिव माइंड्स ऑफ टुमारो’ में सबसे कम उम्र के युवा 18 साल के हैं. चुने गए सभी युवाओं को आने-जाने और गोवा में रहने और ट्रेनिंग का इंतजाम किया गया है. फिल्म महोत्सव के 53वें संस्करण में विश्व सिनेमा का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने और फिल्म निर्माताओं और दर्शकों को समान रूप से एक मंच प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है. ओटीटी प्लेटफॉर्म्स को भी जगह मिलेगी इसके अलावा इस बार हॉरर फिल्मों का रहेगा जलवा.

Tags: Film Festival, International film Festival



Source link

Related posts

Leave a Comment