न आंखों से, न सूरत से… ‘द लंच बॉक्स’ समेत इन 4 फिल्मों ने बताया बिना मिले और देखे भी होता है प्यार


नई दिल्ली. कहा जाता है कि प्यार की शुरुआत आंखों होती है. आंखों से होते हुए प्यार दिल में समा जाता है. प्यार होने ऐसे अनगिनत तरीके हैं. आप किसी की सूरत देखकर प्यार में पड़ते हैं, तो किसी की आदत या व्यवहार देखकर. किसी अदाएं, तो किसी की मुस्कान पर आप फिदा हो जाते हैं. किसी के गालों के डिंपल तो किसी की फिजिक्स प्यार होने का न्यौता देते है. इतना ही नहीं प्यार बिना देखे भी होता है. किसी आवाज और बोली ही सुनकर आप प्यार में पड़ जाते हैं. हमने फिल्मों में प्यार होने की कई घटनाओं और स्थितियों को देखा है.

फिल्मों में प्यार के हर तरीकों को बखूबी दिखाया गया है. पड़ोस में रहने वाले लड़का-लड़की के बीच प्यार, कॉलेज में लड़का-लड़की पहली टक्कर से होने वाला, बस में होने वाली पहली मुलाकात के दौरान नोंक-झोंक से पनपा प्यार, सादगी और मासूमियत से इम्प्रेस होकर हो जाने वाला प्यार बॉलीवुड फिल्मों में ऐसे प्यार की अनगिनत कहानियां दिखाई गई हैं.

यहां हम आपको कुछ ऐसी फिल्मों के बारे में बता रहे हैं, जिसमें लड़का-लड़की को बिना देखे प्यार हुआ. यह प्यार सिर्फ आवाज और चिट्ठियों पर लिखी फीलिंग्स के जरिए हुआ. इस तरह की फिल्में साबित करती हैं कि प्यार के लिए चेहरा, रंग-रूप और पैसा मायने नहीं रखता. बस मायने रखता है, तो सिर्फ प्यार का खूबसूरत अहसास.

‘द लंच बॉक्स’

इस क्रम में पहली फिल्म ‘द लंच बॉक्स’ है. साल 2013 में आई इस फिल्म को क्रिटिक्स से काफी सराहना मिली और ऑडियंस ने भी इसे खूब पसंद किया. फिल्म में इरफानखान और निम्रत कौर लीड रोल में थे. फिल्म की रोमांटिक कहानी लंच बॉक्स के जरिए शुरू होती है, जब एक महिला का लंच बॉक्स डब्बावाले गलती से दूसरे शख्स को देते हैं. जब महिला को पता चलता है कि उसका लंच गलत शख्स के पास पहुंचा है, तो वह एक नोट लिखती है. फिर दोनों नोट के जरिए बात करते हैं. इसी नोट के जरिए दोनों अपनी पर्सनल लाइफ डिस्कस करते हैं. दोनों एक-दूसरे के प्रति फीलिंग्स भी आती है. आखिरी में दोनों मिलने का भी फैसला करते हैं, लेकिन चाहकर भी नहीं मिलते.

‘मुझसे दोस्ती करोगे’

साल 2022 में रिलीज हुई फिल्म ‘मुझसे दोस्ती करोगे’ में ऋतिक रोशन, करीना कपूर और रानी मुखर्जी लीड रोल में थे. इसमें भी ऋतिक के किरदार राज खन्ना को रानी मुखर्जी के किरदार पूजा साहनी से बिना देखें प्यार होता है. राज लंदन में रहता है और पूजा इंडिया में. दोनों के ई-मेल के जरिए एक-दूसरे की पर्सनल लाइफ और व्यवहार से इम्प्रेस होते हैं. लेकिन जब राज इंडिया आता है, तो वह करीना कपूर के किरदार टीना से मिलता है और उसे लगता है कि वही पूजा है. फिल्म में एक लव ट्राएंगल और ट्विस्ट हैं. आखिरी में पूजा और राज की शादी होती.

‘सिर्फ तुम’

साल 1999 में आई संजय कपूर और प्रिया गिल स्टारर ‘सिर्फ तुम’ उस साल की रोमांटिक फिल्मों में से एक थी. यह सुपरहिट हुई थी. पहली बार ऑडियंस को इस तरह की कहानी देखने को मिली थी. फिल्म की कहानी एक लड़की के एजुकेशनल डॉक्यूमेंट खोने से होती. जिसे एक लड़का कुरियर के जरिए उसके डॉक्यूमेंट्स पर लिखे पते पर भेजता है. इसके बाद चिठ्ठियों का दौर शुरू होता है. दोनों के बीच प्यार होता है. लेकिन दोनों मिलने में महीनों लगते हैं. आखिर में दोनों की दिलचस्प तरीके से मुलाकात होती है.

 ‘अनुराग’

विनोद मेहरा और मौसमी चटर्जी स्टारर ‘अनुराग’ साल 1972 में रिलीज हुई थी. फिल्म में मौसमी ने मूर्ति बनाने वाली ब्लाइंड महिला शिवानी के किरदार में होती हैं. विनोद के किरदार राजेश को उनके व्यवहार और प्रतिभा को देखकर प्यार होता है. शिवानी को भी राजेश से बिना देखें प्यार हो जाता है और शादी भी करते हैं.

Tags: Hrithik Roshan, Irrfan Khan



Source link

Related posts

Leave a Comment